Breaking News

भिखारी ने चेहरा बदलकर कर डाली अमीर लडकी से शादी, सच्चाई सामने आने पर उड़े सबके होश

दोस्तों अक्सर खुबसूरत लडकियाँ घमंडी होती है हालांकि सभी की बात यहाँ नही हो रही है एक बादशाह की बेटी काफी खुबसूरत हुआ करती थी. लडकी खुबसूरत और अमीरी की वजह से काफी घमंडी थी और इसी वजह से वह अपने लिए आये रिश्तो को ठुकरा देती है.

ये देखते हुए बादशाह ने एक दिन अपने घर में बड़ी दावत रखी थी जिसमे लोग अपनी हैसियत के हिसाब से अपनी अपनी जगह बैठ गये. इसके बाद शहजादी आई और उसे अपने लिए लड़का पसंद करना था. लडकी जिस भी लडके के पास से जाती उसे बहुत नीची नजरो से देखती थी.

इस तरह शहजादी ने एक मोटे लडके का मजाक उड़ाते हुए कहा ये तो आटे का थैला है और दुसरे को खम्बे की तरह लम्बा कह दिया. इसी तरह लडकी सभी वह सभी का मजाक उड़ाने लगी है. बादशाह ने देखा उसकी बेटी सभी का मजाक उड़ा रही है तो उन्होंने गुस्से में कह दिया. भले ही राजकुमारी किसी लडके को पसंद करे न करे मैं इसकी शादी एक भिखारी से करवा दूंगा.

इस घोषणा को सुनकर सभी वहां से चले गये और उनके जाते ही महल में एक भिखारी आता है. भिखारी खिड़की के नीचे खड़े होकर गाना गा रहा था जिसकी आवाज सुनकर बादशाह ने उस भिखारी को अंदर आने के लिए कहा. भिखारी ने गाना गाया और बदले में कीमत मांगने लगा तो बादशाह ने उससे अपनी बेटी की शादी की बात कर दी.

ये बात सुनकर राजकुमारी को गुस्सा आया लेकिन उसकी एक न चली और दोनो की शादी करवा दी गयी और भिखारी के साथ शहजादी को भेज दिया गया. भिखारी और शहजादी को रास्ते में एक शिकारगाह दिखाई दिया जिसपर शहजादी बोली ये किसकी है ?

तब भिखारी बोला जिसका तुमने दाढ़ी वाला बाबा कहकर मजाक उड़ाया उसकी है. अगर तुम उससे शादी करती तो आज इसकी मालकिन होती. आगे बढने पर उन्हें एक बड़ा बाग़ दिखाई दिया जिसे देखकर भिखारी ने बताया ये भी उसी दाढ़ी वाले का है.

आगे चलकर उसे ऐसी कई चीजे दिखाई दी जो उसी दाढ़ी वाले की थी ये जानकर शहजादी को अफ़सोस हुआ और वह कहने लगी – काश मैं उससे शादी कर लेती . ये बात सुनकर भिखारी को गुस्सा आया और वह बोला ये सब ठीक है लेकिन मेरे होते हुए दुसरे मर्द की बात क्यों कर रही हो ?

आगे चलकर वे एक झोंपड़ी के पास पहुंचे जिसे देखकर शहजादी बोल पड़ी कैसी बेकार जगह है. इसपर भिखारी बोला ये वही जगह है जहाँ हमे जिन्दगी बितानी है. इसके बाद फकीर ने उस्ससे काम करवाना शुरू कर दिया. एक दिन भिखारी ने शहजादी से कहा मेरे पास कमाए हुए सभी पैसे खत्म हो गये है अब कमाने की बारी तुम्हारी है.

सबसे पहले भिखारी ने पत्नी के लिए लकड़ियाँ लाकर दी ताकि वह टोकरी बना सके जिसे वह बाज़ार में बेच आएगा. लेकिन शहजादी वह काम नही कर पाई. इसके बाद उसने पत्नी को मिटटी लाकर दी ताकि वह मिटटी के बर्तन बनाकर बेच सके.

जब शहजादी ने मिटटी के बर्तन बनाये तो उन्हें लेकर वह सडक के बीच जाकर बैठ गयी. ऐसे में एक सिपाही ने आकर उसके बर्तनों को लात मारकर उससे कहा बीच रास्ते में बर्तन नही लगाया करो. जब शहजादी ने घर आकर पति को ये बात बताई तो भिखारी बोला – तुम्हे रास्ते में नही बैठना चाहिए था वहां से लोगो को चलने में दिक्कत होती है.

इसके बाद भिखारी पास के महल में पत्नी के लिए खाना बनाने का काम मांग लाया. शहजादी रोज सुबह से शाम तक बाबर्ची खाने में खाना बनाया करती और बचा खाना घर ले जाती थी जिसे भिखारी और वह खाते थे. एक दिन महल में कोई शाही प्रोग्राम था

जिसे देखने के लिए शहजादी बावर्ची खाने की खिड़की पर निकल गयी. हर तरफ शानोशौकत थी और ये देखकर शहजादी अपने उपर गुस्सा हो गयी कि घमंडी होने की वजह से उसने अपनी जिन्दगी बर्बाद कर ली है. इतने में एक दासी आई और शहजादी को अच्छा अच्छा शाही खाना दिया जिसे लेकर वह भिखारी के पास जाने लगी.

इतने में किसी ने उसका रास्ता रोका तो शहजादी ने देखा ये वही दाढ़ी वाला बादशाह था जिसका उसने खूब मजाक उड़ाया था. वह डर गयी और बादशाह उसे लेकर हॉल में पहुंचा . शहजादी कांपने लगी और उसके हाथ से खाने की टोकरी गिर गयी और सब हंसने लगे. राजकुमारी वहां से भागना चाहती थी लेकिन बादशाह ने उसका हाथ पकड़ लिया और कहने लगा – डरो मत !

मैं वही हूँ जो तुम्हारे साथ झोंपड़ी में रहता था, मैं वही सिपाही हूँ जिसने तुम्हारे बर्तन तोड़े और ये सब कुछ मैंने तुम्हारे साथ इसलिए किया ताकि तुम्हे सबक सिखाया जा सके. पुरानी बाते भूल जाओ और आज यहाँ हमारी शादी की तैयारियां हो रही.

दासियों ने शहजादी को नहलाकर उसे अच्छे कपड़े पहनकर दोबारा दरबार में लाया तो उसने देखा उसके माता पिता और दरबारी भी वहां मौजूद थे. लोगो ने उसे मुबारकबाद थी और लडकी का घमंड टूट चूका था. लडकी पूरी तरह बदल चुकी थी.

About Rani Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *