Breaking News

टाटा ने दिखा दिया असली रंग अब दुनिया खरीदेगी भारत से ये बाहुबली लोडर

कंस्ट्रक्शन और माइनिंग इक्विपमेंट इंडस्ट्री से एक और खबर निकल कर आ रही है और टाटा हिटाची की जेवी द्वारा लांच किया जा चुका है। इस व्हील लोडर की खास बात यह है कि मार्केट में अवेलेबल दूसरे किसी भी व्हील लोडर से ज्यादा रिलाएबल और ज्यादा फ्यूल इकॉनमी देने वाला लोडर है

और इस मेड इन इंडिया व्हील लोडर में 20% कम ईंधन की खपत होती है। एक्सकैवेटर की तरह ही इस में फॉरवर्ड और रिवर्स मोमेंट के लिए हाइड्रोलिक फ्लो का इस्तेमाल होता है और इसलिए इसमें किसी भी तरह की ट्रांसमिशन की जरूरत नहीं पड़ती। इस व्हील लोडर में चार सिलेंडर वाले इंजन का इस्तेमाल किया गया है और इंजन को भी भारत में ही मैन्युफैक्चरर किया जाता है। tl340 एच के मॉडल नंबर के साथ आने वाले यह विल लोडर टाटा हिताची की कर्नाटका की फैसिलिटी में मैन्युफैक्चर किया जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें। इस jv की तीन मैन्युफैक्चरिंग, यूनिट, झारखंड, वेस्ट, बंगाल और कर्नाटक में स्थित है। अकेले भारत नहीं, कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री 6:30 billion-dollar की है और मिडिल लिस्ट के अलावा अफ्रीका यूरोप, नॉर्थ अमेरिका और यूके में भारत से इंपोर्टेड कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट्स इस्तेमाल किया जाता है।

भारत में कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट एक्सपोर्ट हाल ही के कुछ दिनों में इसलिए भी बढ़ गया है क्योंकि इस इंडस्ट्री में Bs 4 स्टैंडर्ड के इक्विपमेंट भारत में manufacture किए जाने लगे हैं। आपको बता दें कि कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट का bs4 ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के बीएस6 के बराबर होता है और इसी स्टैंडर्ड के इक्विपमेंट फिलहाल दुनिया के ज्यादातर देशों में इस्तेमाल में लाए जाते हैं। एक सर्वे के मुताबिक फिलहाल भारत में कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट के टोटल प्रोडक्शन का केवल 15% ही बाहर के देशों का एक्सपोर्ट किया जाता है और चीनी इंडस्ट्री के कंपैरिजन में बहुत ही कम है। जेसीबी एस्कॉर्ट महिंद्रा टेरिक्स जैसे बहुत से भारती और ग्लोबल मैन्युफैक्चर का मैन्युफैक्चरिंग अभी भारत में है। लेकिन प्रोडक्शन रेट कम होने की वजह से प्रोडक्शन का ज्यादातर हिस्सा भारत में ही consume हो जाता है।

वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जेसीबी ही अकेले भारत 110 देशों को अपनी कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट में सपोर्ट करती है और सबसे ज्यादाअफ्रीका अफगानिस्तान और ईरान जैसे देशों में इनकी जेसीबी के मेड इन इंडिया कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट्स इस्तेमाल में लाए जाते हैं क्योंकि ऐसी जगह में कंस्ट्रक्शन का काम अभी तक बहुत तेज से किया जा रहा था और भारत से इन प्रोडक्ट का इम्पोर्ट करना किसी भी देश के मुकाबले सस्ता पड़ रहा था।

टाटा हिताची के इस प्रोडक्ट को एक्सपोर्ट मार्किट के हिसाब से भी डिजाइन किया गया है। इसलिए भारत में मैन्युफैक्चरर किए जाने वाले इन प्रोडक्ट में किसी भी तरह के अलग से मॉडिफिकेशन करने की कोई जरूरत नहीं पड़ेगी।

दोस्तों आत्मनिर्भर बनते भारत में ऐसे कई बदलाव वर्तमान में देखने को मिल रहे हे और भारत एक मजबूत देश बनने को अग्रसर हे दोस्तों पसंद आयी हो तो हमारी पोस्ट को लाइक कीजिये जय हिन्द जय भारत

 

About dev kishan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *