Breaking News

भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह पर छोटी सी गलती पड़ी भारी, गेंदबाज यजुवेंद्र की वजह से जाना पड़ा जेल

दोस्तों इस समय लोग २ ही चीजो के सबसे ज्यादा दीवाने है एक है बॉलीवुड और दूसरा है क्रिकेट. ज्यादातर लोग स्पोर्ट्स की तरफ बढ़ते दिखाई देने लगे है. अब लोग बॉलीवुड छोडकर स्पोर्ट्स को ज्यादा पसंद करने लगे है.

स्पोर्ट्स में क्रिकेट को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है. बच्चो से लेकर बड़े बुढो में भी क्रिकेट को लेकर एक अलग ही क्रेज देखने को मिलता है. लेकिन कुछ क्रिकेटर अपनी हरकतों की वजह से देश का नाम बदनाम करते है.

भारतीय टीम के स्टार बल्लेबाज कहलाने वाले युवराज सिंह ने कुछ ऐसी गलती कर दी कि उन्हें जेल तक जाना पड़ गया था. जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोग इस बात को पढकर हैरान रह गये थे. युवराज सिंह को हरियाणा प[पुलिस ने गिरफ्तार किया था

जिसकी वजह वैसे तो बहुत छोटी है लेकिन हिन्दू समाज में बहुत बड़ी मानी जाती है. कहा जा रहा है कि युवराज सिंह ने कुछ ऐसे जातिवाद शब्दों का प्रयोग किया जोकि उनके लिए भारी पड़ गये.

युवराज को हरियाणा पुलिस ने किया गिरफ्तार 

ये खबर आज से २ साल पहले की है जिस समय देश में लॉकडाउन लगने वाला था उस दौरान हरियाणा पुलिस ने क्रिकेटर युवराज सिंह को अंदर कर दिया था. क्योंकि युवराज ने कुछ जातिवाद शब्दों का इस्तेमाल कर दिया था

और उन्होंने ये शब्द जिसके लिए कहे थे वह और कोई नही बल्कि भारतीय टीम के गेंदबाज यजुवेंद्र है. युवराज के द्वारा बोले गये शब्दों की वजह से उन्हें जेल तक जाना पड़ गया था. दरअसल युवराज सिंह इन्स्टाग्राम पर लाइव आये और उन्होंने लाइव में चहल को जोड़ लिया था.

दोनों आपस में बातचीत करने लगे और इसी दौरान युवराज के मुह से जातिवाद के कुछ ऐसे शब्द निकल गये जिसके चलते वे बुरी तरह फंस गये. युवराज और चहल की बातचीत का विडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया था

और हरियाणा जिले के एक छोटे से गाँव हासि के एक वकील ने उनके खिलाफ हाईकोर्ट में केस दर्ज कर दिया था. युवराज पर केस करने वाले वकील का नाम रजत कलसन है और उन्होंने हरियाणा कोर्ट में उनके खिलाफ केस दर्ज किया था.

इसके बाद युवराज को हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था लेकिन कुछ समय बाद उन्हें जमानत मिल गयी थी. इस तरह चहल के साथ किया गया एक छोटा सा मजाक उनके लिए मुसीबत बन गया था.

About Rani Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *