Breaking News

शर्मनाक : मौत के मुह से बचाने वाले लोग मांग रहे बच्चे के इलाज में दिया पैसा वापिस, माँ की आंखे नम

दोस्तों जब हम किसी की मदद करते है तो उससे बदले में कुछ नही लेते है क्योंकि अगले का भला हो जाये इससे हमे ख़ुशी मिलती है लेकिन बिहार में एक शर्मनाक घटना सामने आई है. जहाँ 1 साल के बच्चे को स्पाईनल मस्कुलर एट्राफी बीमारी हो गयी है जिससे उसकी जान तक जा सकती है.

बच्चे का नाम अयांश है और अयांश को बचाने के लिए 16 करोड़ रूपये के इंजेक्शन की जरूरत है. इसके लिए उसके घरवालो ने क्राउड फंडिंग की थी. लोगो ने दिल खोलकर पहले तो मदद की लेकिन बाद में वे मदद का पैसा वापिस मांग रहे है. आइये जानते है पूरा मामला क्या है ?

घटना बिहार की राजधानी पटना के रुकन पूरा के आलोक और उसकी पत्नी नेहा सिंह के साथ हुई है. नेहा ने जानकारी देते हुए बताया कि उसकी शादी से पहले पति पर 420 का केस हो चूका था. हालांकि वे इस केस के बारे में ज्यादा कुछ नही जानती थी क्योंकि उनकी शादी उस समय नही हुई थी.

ये केस 2011 में हुआ था जब आलोक एक इंस्टीट्यूट चलाता था. जिसमें वह बच्चो का प्लेसमेंट करता था और जिन बच्चो का प्लेसमेंट नही हुआ उन्होंने उसपर केस कर दिया कि उसने उनके पैसे खाए है. लोगो का कहना था कि आलोक फ्रोड है और उनके पैसे लेकर भाग जायेगा. इस बात से परेशान होकर अलोक ने खुद को कोर्ट में सरेंडर तक कर दिया है.

नेहा और अलोक की शादी 2014 में हुई है. उनके पति ने खुद को सरेंडर किया हुआ है वे अपने बच्चे की तबियत को लेकर परेशान है. नेहा का कहना है कि इस हालात में उनके पति का साथ होना कितना जरुरी है ये हर कोई समझ सकता है. मुझे दिनभर उन लोगो के फोन आ रहे है जिन्होंने अयांश के इलाज के लिए पैसे दिए थे.

मेरे बच्चे के पास कुछ ही समय बचा है और ऐसे में उसके पिता उसके साथ नही है. उनके लिए ये कितना बुरा समय है कि बच्चे को आखिरी समय में सम्भाल नही पा रहे है. इसके साथ ही नेहा ने बताया कि अबतक उन्हें कई लोगो के फोन आ चुके है और साथ ही यु ट्यूब वाले लोग भी फोन करके गाली दे रहे है.

वे हमसे पैसे वापिस मांग रहे है. हालंकि मैंने एक आदमी का 51 हजार रूपये वापिस कर दिया है. लेकिन अगर मैं सभी का पैसा वापिस करने लग जाउंगी तो मेरा बच्चा मर जायेगा. उसका इलाज कैसे होगा ? नेहा ने बताया कि अयांश को 16 करोड़ का इंजेक्शन लगना है जबकि अबतक उनके पास 6 करोड़ 92 लाख रूपये ही इकट्ठा हो पाए है और वे भी लोग वापिस मांग रहे है.

उसने कहा कि मैंने लोगो को बोला अगर आपके पैसे वापिस देंगे तो बच्चे का इलाज नही हो पायेगा और अगर आपको हमारे उपर शक है तो FIR दर्ज करवा दीजिये. नेहा ने कहा कि अगर अयांश को इंजेक्शन नही लगा और ये नही बचा या फिर बिना इंजेक्शन के ठीक हो गया तो हम उन पैसो को किसी ऐसे फाउंडेशन को सौंप देंगे जहाँ ऐसी ही बीमारी के बच्चे होंगे.

अयांश की माँ समझ गयी है कि इस बीमारी के लिए करोड़ो रूपये का खर्चा आता है और कुछ लोग इसका इलाज नही करवा पाते है. इसलिए उसने फैसला किया कि अगर उसके पास पैसे बच गये तो वे उन्हें किसी गरीब बच्चे की मदद में देना चाहेगी. हालंकि अयांश को अभी तक इंजेक्शन नही लगा है और न ही उनके पास 16 करोड़ रूपये इकट्ठा हो पाए है. नेहा बच्चे के लिए बहुत परेशान और दुखी है.

अयांश से पहले भी मर चूका है एक बच्चा

नेहा ने बताया कि अयांश से पहले भी उसका एक बच्चा था जोकि अब इस दुनिया में नही है. उसकी मौत हो चुकी है और उसका डेथ सर्टिफिकेट विकास नाम का एक लड़का मांग रहा है. जोकि एक यु ट्यूबर है. वह पहले भी नेहा के घर आ चूका है और उसने बच्चे का विडियो बनाया था.

विकास के बाद भी कई लोग नेहा के घर आकर बच्चे का विडियो बनाकर जा चुके है. जहाँ कुछ लोगो को बच्चे की विडियो बनाकर अपलोड करने से फायदा हुआ है वहीँ विकास को कोई TRP नही मिल पाई. जिससे वह गुस्सा हो गया है. विकास अब नेहा पर ही सवाल उठा रहा है कि अगर उसका बच्चा मर गया है तो उसकी जानकारी उसको क्यों नही दी.

नेहा का कहना है कि जो बच्चा मर गया है उसका डेथ सर्टिफिकेट दिखाऊ या फिर जो बच्चा अभी जिन्दगी और मौत के बीच लड़ाई लड़ रहा है उसे बचाने में ध्यान दूँ. विकास उसे लगातार परेशान कर रहा है, नेहा अकेली हो चुकी है. जहाँ कोई उसके मरे हुए बच्चे का डेथ सर्टिफिकेट मांग रहा है तो कोई मदद के लिए दी हुई राशि वापिस मांग रहा है. आलोक ने खुद को सरेंडर किया हुआ है बच्चा बीमार है और कोई मदद नही कर पा रहा है.

 

About Rani Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *