Breaking News

माँ ने बच्ची की देखभाल के लिए मांगी बॉस से 1 घंटे की छुट्टी, मना करने पर कंपनी को देने पड़े 2 करोड़

दोस्तों एक औरत घर और ऑफिस दोनों जगह की जिम्मेदारी अच्छी तरह से उठा लेती है. वह घर का सारा काम करने के बावजूद ऑफिस वर्क भी पूरा करती है. लेकिन कई बार सिचुएशन उनके सामने ऐसी आ जाती है जब उन्हें छुट्टी लेनी पडती है.

खासकर माँ बन चुकी महिला के लिए काम के साथ साथ उसके बच्चे की देखभाल करना भी बहुत जरुरी होता है. ऐसा ही कुछ लंदन की ऐलिस थोम्पसन के साथ हुआ है. जिसने अपनी बच्ची के लिए कंपनी से 1 घंटे की छुट्टी मांगी तो उसे अपने नौकरी से हाथ धोना पड़ा.

लंदन में रियल स्टेट कंपनी में ऐलिस सेल्स मैनेजर का काम करती थी उसकी एक छोटी बच्ची थी जिसे वह रोजाना चाइल्डकेयर छोड़ आती थी. ऐलिस को बच्ची को शाम 5 बजे लेना पड़ता था क्योंकि उसी समय तक बच्ची को वहां रखा जाता था. जबकि ऐलिस की ड्यूटी 6 बजे खत्म होती थी .

इसलिए उसने अपने बॉस से बच्ची की देखभाल करने के लिए रोजाना उसे 1 घंटे पहले जाने देने की बात की. कंपनी ने ऐलिस की बात को न मानते हुए कहा कि – एक घंटे पहले काम खत्म करने को पार्ट टाइम जॉब माना जायेगा और उन्हें इस तरह कोई छुट्टी नही दी जायेगी.

ऐलिस को नौकरी और बच्ची में से किसी एक को चुनना था और उसने अपनी बच्ची को चुनते हुए नौकरी छोड़ दी. इसके बाद ऐलिस ने एम्प्लोय्मेंट ट्रिब्यूनल में कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज करते हुए उनपर लैंगिक भेदभाव का आरोप भी लगाया है. उन्होंने कहा  वह नही चाहती वह जो सह रही है आगे चलकर उनकी बेटी को भी ये सब सहना पड़े.

ऐलिस ने अपनी बच्ची वाली सारी बात बता दी जिसके बाद ट्रिब्यूनल ने उनकी बात को सही मानते हुए मैनर्स इस्टेट कंपनी के रवैये को गैर जिम्मेदार ठहराते हुए उन्हें मुआवजे के तौर पर 181,000 पौंड यानी 2 करोड़ रूपये ऐलिस को देने का आदेश दिया है.

ऐलिस को सपोर्ट करते हुए ट्रिब्यूनल ने ये भी कहा है – नर्सरी 5 बजे बंद होती है तो फिर ऐसे में एक माँ को 6 बजे तक काम करने के लिए मजबूर करना गलत है. अगर किसी दूसरी महिला के साथ भी इस तरह की घटना होगी तो उसे भी ऐसी ही सजा दी जाएगी.

ऐलिस ट्रिब्यूनल द्वारा किये गया न्याय से बहुत खुश है और उसे मुआवजे में इतनी रकम मिल गयी जो उसकी सालाना सैलरी से कहीं गुना ज्यादा थी. अब वह अपना ज्यादा से ज्यादा समय बच्ची की देखभाल पर लगा सकती है. ऐलिस की तरह ऐसी और भी कई माँ है जिनके लिए बच्चो की जिम्मेदारी के साथ साथ ऑफिस वर्क की जिम्मेदारी उठाना ज्यादा जरुरी होती है.

कई ऑफिस में महिलाओं को अब भी छुटियाँ नही दी जाती है और कहीं तो उन्हें इसलिए काम पर नही रखते है क्योंकि वे घर के काम के लिए आकर छुटियाँ मांगना शुरू कर देगी. ये कोई अकेली ऐलिस की कहानी है नही बल्कि दुनिया की उन सभी महिलाओं की कहानियाँ है जो रोजाना अपने बॉस से घर के काम के लिए डांट खाती है. इनमे से कुछ तो सब कुछ सह जाती है और कुछ ऐलिस की तरह अपने हक की लड़ाई लडती है.

 

About Rani Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *