Breaking News

सिर्फ 5 महीनों में भारतीय रिजर्व सरप्राइज एक्सपर्ट 650 बिलियन डॉलर तक पहुंचा

दोस्तों एक छोटी सी कहावत सुन लीजिए। आपको न्यूज़ सुनने का मजा ही आ जाएगा। चक दे फट्टे ते नप दे किल्ली सवेरे जलंधर तो साम ते दिल्ली दोस्तों यह कहावत पंजाबी लोगों में बहुत मशहूर है।

पंजाबी लोग जब भी उत्साह से भरे होते हैं तब इस कहावत का जिक्र वह जरूर करते हैं और इस कहावत को अलग ही तरीके से मोड़ कर देते हैं। लेकिन इस कहावत का जन्म हुआ था।

सिखों के वॉरियर्स ने इसे जन्म दिया था। दरअसल सीख जब भी मुगल एंपायर के ऊपर अटैक करते थे तब वह या तो कोई रिवरक्रॉस करना होता था या तो टेंपरेरी ब्रिज बनाते थे।

फट्टों का ब्रिज बनाते थे और जैसे ही फट्टों का ब्रिज बनाकर वह रिवर क्रॉस किया करती थी और जैसे ही मुग़ल की आर्मी या फिर पीछे से आ रही होती थी या फिर आगे से आ रही होती थी ।

तो ब्रिज को तोड़ना होता था तब वह कहते थे। चक दे फट्टे नप दे किल्ली यानी कि अगर। चक दे फट्टे तो तब होता था जब ब्रिज हटाना है और नप दे किल्ली के लिए तब होता था जब बृज बिछा ना है।

दोस्तों एक कहावत है। बहुत इंपोर्टेंट है। आपकी नॉलेज बड़ी होगी, लेकिन आते हैं आज की सबसे बड़ी खबर निकल आयी हे।

भारत के खजाने को लेकर जो हम आज आपको जानकारी देने वाले हे उनमे यूरोपियन देश इन आंकड़ों के आस पास भी नहीं हे लेकिन

दोस्तों सबसे पहले दोस्तों हमारे सभी एक्सपर्ट और rbi के गवर्नर ने भी आज कई ऐसे खुलासे किये हे जिसमे कहा हे की आज एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यस्था वाला देश भारत बन चूका हे

जैसा की भारत ने आयात को काम कर दिया हे और निर्यात को अधिक बढ़ावा दिया हे आज जो भी देश फॉरेन रिजर्व के ऊपर अपनी नजरें गाड़ी बैठे हुए थे,

उन सभी के आंकड़े आज धराशाई हो गए हैं और आज जो एक्सपर्ट कह रहे थे कि भारत को 1 साल लग जाएगा। 650 बिलीयन डॉलर का आंकड़ा छूने के लिए लेकिन भाईसाब आज वह अपना माथा पीट रहे हैं।

क्योंकि भाई साहब एक नहीं दो नहीं तीन नहीं, बल्कि 8 बिलियन डॉलर की भयंकर बढ़ोतरी देखने को मिली है

भारत के फॉर x रिज़र्व के लिए और आंकड़ा पहुंच चूका है।

642 बिलियन डॉलर दोस्तों आप सोच कर देखिए कि हमारे जो एक्सपर्ट है। वह कह रहे थे कि साढे 650 बिलीयन डॉलर हमें जो ग्रोथ हे वो हासिल करेंगे 1 साल के अंदर लेकिन अभी तो भाई साहब 5 महीने हुए हैं और हम एक हफ्ते दूर हैं।

साडे 600 बिलियन डॉलर से पिछले हफ्ते 16 बिलियन डॉलर आए थे और अब आए हैं। उसके आधे 8 बिलियन डॉलर और साडे 600 बिलियन डॉलर का आंकड़ा ज्यादा दूर नहीं है।

दोस्तों हमने आपको कहा था खजाने को लेकर हमारी उम्मीदें अभी हाई होनी चाहिए। ट्रिलियन्स के ऊपर ह

मारी नजरें होनी चाहिए और वही ग्रोथ आज हमारे खजाने के अंदर हमें दिखाई दे रही है।

क्या कहना चाहेंगे इस मेगा अपडेट के ऊपर और भयंकर बढ़ोतरी के ऊपर कमेंट सेक्शन में जरूर बताइएगा। हालांकि बहुत से देशों के लिए यह जो आंकड़े आप की स्क्रीन ।

चल रही है ना यह किसी सपने की तरह है श्रीलंका और पाकिस्तान के लिए यह सिर्फ यह जो आंकड़े देखेंगे तो उन्हें लगेगा कि वह सपना देख रहे हैं, लेकिन यह सच्चाई है। भारत के अंदर क्या कहना चाहेंगे? कमेंट सेक्शन में जरूर बताइए।

About dev kishan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *