Breaking News

लाइव : नोएडा में किसानो ने किया बीच रोड पर प्रदर्शन तो पुलिस ने डंडे मारकर ऐसे भगाया

दोस्तों पिछले कई महीनों से दिल्ल्ली बोर्डर पर किसान रैलिया लेकर बैठे है. कई बार किसान प्रदर्शन कर चुके है और पुलिस किसानो के बीच लड़ाई देखी गयी है. वही आह नोयडा में 81 गाँव से आये किसानो ने एक बार फिर से प्रदर्शन किया है. हालंकि पुलिस प्रशासन ने अपनी तरफ से पहले ही पूरी तैयारियां कर रखी थी.

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही पुलिस ने किसानों के ठिकानो पर छापा मार दिया था जिसमें 40 किसानो को गिरफ्तार किया जा चूका था. लेकिन आज हजारो किसान प्रदर्शन करने के लिए नोयडा पहुंचे तो UP पुलिस पहले से ही अलर्ट मोड़ पर थी. जैसे ही किसानो का प्रदर्शन हंगामे में बदलना शुरू हुआ UP पुलिस ने लाठी चार्ज करना शुरू किया.

पुलिस ने आज 300 किसानो को गिरफ्तार किया है और उन्हें बस में भरकर जेल भेज दिया है. किसानो से भरी बस में जय जवान जय किसान के नारे लगाते किसान भेड़ बकरियों की तरह भले गये है. किसान बस के अंदर से ही जोर जोर से नारे लगा रहे है. पूरी सडक पर लोग इकट्ठा हुए इस नजारे को अपने कैमरे में कैद कर रहे थे.

नोयडा पुलिस ने पहले ही दिन ये तय कर दिया था कि किसी भी हालात में कानून व्यवस्था को बिगड़ने नही दिया जायेगा और इस बीच को शांति व्यवस्था भंग करने की कोशिश करता है तो पुलिस उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही करेगी. किसान आन्दोलन में महिलाएं रोड पर बैठ गयी थी जिन्हें उठाने के लिए लेडी पुलिस भी वहां मौजद थी जोकि उन्हें हाथो से पकडकर उठा रही थी.

इस समय धारा 144 लागू है जिसमे किसी भी तरह के विरोध प्रदर्शन की इजाजत नही दी गयी थी इसके बावजूद किसान फिर भी नोयडा प्राधिकरण पर पहुंचकर हंगामा करने लगे. इसका एक विडियो भी वायरल हुआ है जिसमे आप खुद भी देख सकते है कि कैसे इस प्रदर्शन में पुरुषो के साथ महिलाएं भी सामने आई है. पुलिस ने सभी को रास्ते से हटाया और उन्हें जेल भेज दिया.

किसान बार बार नोयडा प्राधिकरण हाय हाय के नारे लगा रहे थे. किसानो के हमले के बाद पुलिस ने जिस तरह का अलर्ट मोड़ दिखाया है उसे देखकर हर कोई हैरान रह गया है. इससे पहले भी किसान आन्दोलन से लेकर कई तरह की खबरे वायरल हो चुकी है. किसान एक न्यूनतम मांग कर रही है कि आप हमे इतना पेय कीजिये जिससे हमारे बच्चे और आने वाली नसले सिक्योर रहे. क्योंकि देश की आधे से ज्यादा आबादी खेती बाड़ी पर निर्भर करती है.

हर इन्सान कहीं न कहीं किसान परिवार से सम्बन्धित है. किसान काफी महीने से दिल्ली में है और कई लोग बता रहे है कि किसान अच्छे से खा रहे है और गाडियों के घूम रहे है इसके बावजूद भी किसान काफी महीने से धुप बारिश के हर मौसम में धरना कर रहे है.

About Rani Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *