Breaking News

मजदूरी करने वाला एक मामूली सा लड़का कैसे बना भारत का सबसे बड़ा रेसलर द ग्रेट खली

दोस्तों आपने सुना ही होगा अगर आप मेहनत करते है तो उसका फल एक न एक दिन जरुर मिलता है. ऐसा ही कुछ भारत के सबसे बड़े रेसलर द ग्रेट खली के साथ भी हुआ है. खली ने अपना जीवन बहुत मुश्किलों से गुजारा है. आज वे करोड़ो की सम्पति के मालिक है लेकिन क्या आप जानते है कि कभी उन्हें 2 समय की रोटी तक नसीब नही होती थी. आइये जानते है उनके संघर्ष की कहानी वितार से ..

खली का नाम दिलीप सिंह राणा है और उनके पिता एक किसान थे. उनके घर की आर्थिक इतनी खराब थे कि बचपन में ही उन्हें स्कूल छोडकर पेट पालने के लिए मजदूरी करनी पड़ी थी. इसके बावजूद भी खली ने हार नही मानी और अपने आप को एक ऐसे मुकाम पर खड़ा किया वे आज अपने साथ साथ अपने गाँव के विकास के लिए पैसे खर्च करते है.

खली के पिता का नाम ज्वालाराम था जो खेतो में काम करके घर चलाते थे खली के 6 भाई है और परिवार बड़ा होने की वजह से उनकी माँ तांदी देवी भी मजदूरी करती थी. ऐसे में खली ने भी स्कूल की पढाई छोडकर गाँव में मजदूरी करना शुरू कर दिया. क्योंकि खली बचपन से ही काफी लम्बे थे इसलिए उनकी बॉडी और हाईट का फायदा गाँव वाले अक्सर उठाया करते थे. खली गाँव के सभी भारी काम करते थे. खली का भरी शरीर के कारण लोग उनका मजाक तक बना चुके है.

खली और ज्यादा पैसे कमाना चाहते थे इसलिए वे शिमला चले गये और वहां उन्होंने सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करना शुरू कर दिया. पूरा दिन काम करने के बाद जो पैसे कमाते थे उससे उनकी डाईट भी पूरी नही हो पाती थी और वे पैसे घर भी भेज नही पाते थे. एक दिन पंजाब पुलिस अधिकारी जोकि शिमला घुमने आया था उसकी नजर खली पर पड़ी. उन्होंने खली से बात की और उनकी आर्थिक मदद करने के लिए उन्हें पंजाब पुलिस में भर्ती होने को कहा.

साल 1993 में खली ने पंजाब पुलिस जॉइन की थी यहाँ से उनकी जिन्दगी में थोडा बदलाव आना शुरू हुआ. उस दौरान जलंधर के एक जिम में उन्हें रेसलिंग के लिए तैयार किया गया. ये वह समय था जब रेसलिंग को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता था लेकिन भारत की तरफ से खेलने वाला कोई भी खिलाड़ी नही था.

खली ने खूब तैयारी की और 2000 में वे अमेरिका पहुंचे. यहाँ उन्होंने पहली बार ऑल प्रो रेसलिंग में भाग लिया. खली ने जैसे ही रिंग में कदम रखा उन्हें देखकर बड़े बड़े रेसलर भी डर गये थे. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2001 में खली की मार से एक रेसलर की मौत हो गयी थी.

2006 में खली wwe के साथ कांट्रेक्ट साइन करने वाले पहले भारतीय रेसलर बने. इसके बाद उन्होंने अंडर टेकर जैसे ताकतवर रेसलर को भी धूल चटाने में देर नही लगाई. आगे चलकर बिग शो, मार्क हैनरी और बतीष्ठा जैसे खिलाडियों को हराकर wwe का खिताब जीता था. खली को बहुत सारा सम्मान और पुरस्कार मिले है. wwe में टिके रहना इतना आसान नही था यहाँ पैसा तो भले ही ज्यादा मिलता है लेकिन उसके लिए खून पसीना भी बहाना पड़ता है.

About Rani Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *