Breaking News

फिल्म रिलीज होते ही पिता पर चिल्लाना पड़ा भारी, पिता की मौत के बाद रोने लगे संजय मिश्रा

दोस्तों बॉलीवुड भले ही हीरो और विलेन से चलती है लेकिन जब तक उसमे कॉमेडी का तड़का न लगे उसे देखने का मजा नही आता है. वैसे तो बॉलीवुड में कई कामेडियन एक्टर्स है लेकिन आज हम यहाँ संजय मिश्रा के बारे में बात कर रहे है. संजय मिश्रा ने अपनी कॉमेडी से हमेशा लोगो को हंसाया है.

उन्हें बॉलीवुड में एक अच्छे एक्टर के रूप में जाना जाता है. लेकिन क्या आप जानते है सबको हंसाने वाले इस एक्टर के दिल में कितना दर्द भरा हुआ है. ये दर्द और किसी के लिए नही बल्कि उनके पिता पर चिल्लाने की वजह से है. संजय मिश्रा बिहार के दरभंगा जिले में 6 अक्टूबर 1963 को पैदा हुए थे

आज वे 58 साल के हो गये है. उन्हीने अपने फ़िल्मी करियर में एक से बढकर एक फिल्मे की है. बात करे उनकी फिल्मो की तो वे 150 से ज्यादा फिल्मे कर चुके है जिसमे ज्यादातर फिल्मो में उन्होंने कॉमेडी कर लोगो का खूब मनोरंजन किया है. संजय मिश्रा ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत शाहरुख़ खान की फिल्म – ओ माय डार्लिंग से की थी जिसमे वे गिटार बजाते नजर आये थे.

संजय मिश्रा को पहचान फिल्म सत्या से मिली थी जोकि 1998 में आई थी. संजय ने BHU के केन्द्रीय विद्यालय से पढाई की है. जिसके बाद उन्होंने नेशनल ऑफ़ ड्रामा में एडमिशन लिया और एक्टिंग की पढ़ी पूरी की. संजय ने अपनी जिन्दगी में काफी सफलता हासिल की है 26 साल के करियर में वे अपनी दमदार इमेज बना चुके है लेकिन एक बात है जो उन्हें हमेशा अंदर से तोड़ देती है.

कहीं न कहीं संजय मिश्रा आज भी खुद को गुनेहगार मानते है क्योंकि उन्होंने कभी अपने पिता का बहुत दिल दुखाया था. संजय ने एक इन्टरव्यू में पिता के बारे में बताया – 20 मार्च 200९ को उनकी फिल्म आलू चाट रिलीज हुई थी. उनके पिताजी ने अपने सभी दोस्तों को बेटे की फिल्म के बारे में बताया और सभी ने 24 मार्च को फिल्म देखने का प्रोग्राम बनाया.

संजय उस दौरान किसी बीमारी के कारण अस्पताल से छुट्टी लेकर घर लौटे थे. पास के एक मॉल में संजय अपने पिता व् उनके कुछ दोस्तों के साथ फिल्म आलू चाट देखने पहुंचे. लेकिन उन्हें भीड़ ने घेर लिया और लोग उनके साथ फोटो लेने लगे.

ये देखकर संजय को गुस्सा आ गया और उन्होंने फैन्स को गाली देना शुरू कर दिया. ये बात देखकर उनके पिता के दोस्त नाराज हो गये. इंटरवल ने पिता ने संजय की तरफ देखा और कहा – तुम्हे उनपर चिल्लाना नही चाहिए था. पिता की बात सुनकर संजय को और गुस्सा आ गया और वे बोले – आप क्या जानते है ?

चिल्लाना नही चाहिए था ? क्या आपके साथ फोटो ले रहा था वो ? संजय ने बताया इससे पहले कभी इतनी ऊँची आवाज में मैंने पिताजी से बात नही की थी और ये दुःख मुझे जिन्दगी भर होता रहेगा. उनके पिताजी की आखिरी लाइन्स थी – मुझे तुम्हारी सलाह की जरूरत नही है. जिसके बाद वे दुनिया छोड़ गये थे.

About Rani Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *