Breaking News

लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट लुधियाना कोर्ट में ब्लास्ट, दो लोगों की मौत

लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट में अपडेट आया है और एनएसजी की टीम के द्वारा मौका ए वारदात की जांच करने के बाद देर रात कोर्ट के टॉयलेट से क्षत-विक्षत शव को हटा दिया गया । पर पहचान के नाम पर सिर्फ एक टैटू मिला है। यह सब एक पुरुष का है और उम्र करीब 30 से 35 साल के बीच बताई जा रही है।

शुरुआती जांच में एनएसजी और पंजाब पुलिस यह मान कर चल रही व्यक्ति था जो बम विस्फोट करने के लिए कोर्ट परिसर में आया था और जब इसने बम को एक्टिवेट करने के लिए टॉयलेट में जाकर प्रक्रिया शुरू की थी तभी यह धमाका हो गया हालाँकि इस विस्फोट को लेकर कई जानकारियां एनएसजी की टीम मौके से जुटा सकी है और अब उनकी जांच चल रही है।

मोहित मल्होत्रा हमारे साथ जुड़े मोहित किस आधार पर यह दावा किया जा रहा है कि जो व्यक्ति बम प्लांट करने के एक्टिवेट करने गया वही हो सकता है जो धमाके में मारा गया। देखिए जो यह शव बरामद किया गया। उसकी हालत ऐसी है। दोनों हाथ दोनों पैर उड़े हुए हैं।

चेहरे का पूरा मॉस उड़ा हुआ है और उसकी हालत देखकर ऐसा लगता है कि काफी नजदीक वह था। जब यह विस्फोट हुआ और जान बूझकर यह व्यक्ति जेंट्स टॉयलेट में ना जाकर लेडीस टॉयलेट में गया था कि इस पर किसी को शक ना हो और लेडीस टॉयलेट के अंदर जाकर इसने अपने आप को टॉयलेट के अंदर बंद किया और वहां पर यह जो बम है

उसको एक्टिवेट करने की प्रक्रिया शुरू कर रहा होगा। ऐसी आशंका है। एनएसजी की टीम पहुंची थी। देर रात लुधियाना कोर्ट परिसर में काफी पुख्ता सबूत उनको मिले हैं जिसके बाद शव को हटाया गया, क्योंकि पंजाब पुलिस ने पूरा जो एरिया था जहां पर धमाका हुआ था।

वहां पर जब यह शब्द विक्षत शव मिला तब पुलिस को आशंका हो गई थी कि वही व्यक्ति हो सकता है जो कि धमाके के इरादे से परिसर आया था इसी वजह से वह पूरा एरिया। रखा गया था एनएसजी की फॉरेंसिक टीम बोम एक्सपर्ट टीम जब यहां पर पहुंची उसने पूरी जांच की तो इस चौक पर सिर पर टैटू मिला है।

पहचान के लिए और कोई दस्तावेज या कोई ऐसी कुछ भी सामान उसके पास नहीं था लुधियाना ब्लास्ट पर पुलिस कमिश्नर का एक बड़ा बयान आया। लुधियाना के पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर के मुताबिक शुरुआती जांच में पता चला कि धमाका करने के लिए बोम को प्लांट करने की तैयारी कर रहा था।

भुल्लर ने कहा कि इस पूरे मामले में पंजाब टीम के साथ से एनएसजी की टीम भी मौके पर पहुंची हुई और पंजाब पुलिस को भी इस घटना को लेकर काफी महत्वपूर्ण सबूत हाथ लगे हैं और जल्द ही इस मामले का खुलासा कर दिया जाएगा तो आपको ही हैंडल कार, ऐसी कोई चीज।

कोई साजिश टेररिस्ट अटैक या फिर यह क्या है? किस तरीके की लीड को पुलिस अभी तक लेकर आगे बढ़ना शुरू हुई है जांच में देखे दो जो बड़े सबूत है, उनको जुटाने की कोशिश की जा रही है। एक तो सीसीटीवी फुटेज हालांकि यह जो पूरा कोर्ट परिसर है,

इसके अंदर जो आने-जाने के रास्ते वहां पर दो ही मेटल डिटेक्टर लगे थे। दोनों ही काम नहीं कर रहे थे, लेकिन सीसीटीवी कैमरे काम कर रहे थे। सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है कि कोई अन्य व्यक्ति था जो कि अंदर गया और इसके अलावा जो दूसरा एक ऑप्शन जो लेकर चल रही है,

पुलिस वह है आप फोन सर्विलांस का फोन किसको कब फोन किया गया। किस व्यक्ति को कहां पर फोन किया गया। कहीं ऐसा तो नहीं है कि देश से बाहर किसी व्यक्ति को फोन किया गया या किसी व्यक्ति ने फोन रिसीव किया। यह तमाम जो डाटा है, उसको जुटाने की कोशिश की जा रही है। उसके बाद ही कड़ी दर कड़ी। मामले का पता लगा रही हे पुलिस आगे जांच में क्या आएगा ये तो बाद में ही पता लगेगा

About NR Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *