Breaking News

भारत ने लगाया चीनी कम्पनियों पर 1 हजार करोड़ का जुर्माना

देश के सबसे ज्यादा स्मार्ट फोन बेचने वाली चीनी कम्पनियों के OPPO, one प्लस पर भारतीय की आईटी डिपार्टमेंट ने एक बहुत बड़ी गाज घेर दी है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने Xiaomi, Oppo और One plus के ऑफिस पर रेड मारी है जिसके बाद इन तीनो कम्पनियों के अंदर 15 ऐसे ऑफिस थे जहाँ पर ये रेड की गयी.

दिल्ली, NCR हैदराबाद और मुंबई के साथ 11 अन्य स्टेट ऐसे बताये जा रहे है जहाँ पर इनके ऑफिस पर रेड की गयी. 22 दिसम्बर 2021 को इनकम टैक्स वालो ने ये रेड की थी जिसमे 1 हजार करोड़ का फाइन लगाया गया. क्योंकि इन्होने टैक्स के लॉ का वाइलेष्ण किया है

अब आईटी डिपार्टमेंट के खाते में इन्हें एक हजार करोड़ रूपये की राशि जमा करवानी पड़ेगी. जिस समय ये रेड की गयी तो चीनी कम्पनियां काफी हैरान रह गयी थी और उन्होंने था वे उन सभी दस्तावेजों को देने के लिए तैयार है जिन्हें भारत सरकार मांगेगी.

लेकिन चीन अपने दस्तावेज़ पुरे जमा नही करवा पाई और ये कम्पनिया दोषी पाई गयी जिसके तहत इन्हें एक हजार करोड़ का जुर्माना भरना पड़ा. चीनी कम्पनी ने कोविड 19 के पेंडेनेमिक के अंदर बताया था कि 60 हजार लोग Xiaomi के अंदर डायरेक्ट या फिर इनडायरेक्ट तरीके से इसके कर्मचारी है.

ये चीनी कम्पनियां है लेकिन भारत के अंदर 60 हजार लोगो को ये रोजगार भी दे रही है लेकिन आईटी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का एक रूल रेगुलेशन का पालन चीनी कम्पनियों को करना ही पड़ता है. इससे पहले अगस्त में चीनी सरकार द्वारा नियंत्रित दूरसंचार विक्रेता ZTE कंपनी में सर्च की गयी है.

कम्पनी के कॉर्पोरेट ऑफिस विदेशी निवेशक के आवास, कम्पनी सचिव के आवास, खाता व्यक्ति और कम्पनी के केश हैंडलर सहित ZTE के कुल 5 परिसरों में तलाशी ली गयी. ZTE पर सर्च के दौरान सेल और परचेज बिलों से पता चला कि कम्पनी को लगभग 30% का फायदा हुआ था

जबकि कम्पनी पिछले कुछ वर्षो में भारी घाटे की घोषणा कर रही थी. जांच में सामने आया कि कम्पनी अपनी सर्विस से होने वाली आय से ज्यादा फर्जी खर्चे दिखा रही थी और घाटा शो कर रही थी. विभाग ने ऐसे कई लोगो की पहचान की जिन्होंने इस कम्पनी से फर्जी बिलों के जरिये काफी मुनाफा कमाया.

About NR Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *