Breaking News

पति के साथ खाना खाने वाली महिलाओं को मिलती है नर्क में जगह और पति को होता है नुकसान

दोस्तों हिन्दू शास्त्रों में भोजन करते समय कुछ नियम बताएं गये है जिनमे से ख़ास बाते शादीशुदा महिलाओं और उनके पतियों के लिए बताई गयी है. अगर इन नियमो का पालन कोई करता है तो उन्हें भगवान का आशीर्वाद मिलता है

वहीँ जो इन नियमो का पालन नही करता है उसे भगवान का क्रोध सहना पड़ता है. आइये जानते है इन नियमो के बारे में जिनको न मानने से आपका बुरा समय शुरू हो जाता है.
शरीर के इन अंगो को धोकर करे भोजन

जब भी आप भोजन करते है तो दोनों हाथ, पैर, मुह धोकर ही खाना खाएं. भोजन करने से पहले अन्न पूर्णा माता का धन्यवाद देते हुए एंव उनकी स्तुति करते हुए भोजन करे. भोजन पकाने वाली औरतो को शुद्ध मन से स्नान करने के बाद ही खाना बनाना चाहिए. जो व्यक्ति एक समय भोजन करता है वह योगी है और जो 2 बार करता है वह भोगी है

भोजन की दिशा

खाना हमेशा पूर्व और उत्तर की दिशा की ओर ही करके खाना चाहिए. क्योंकि दक्षिण दिशा की ओर किया गया भोजन प्रेत को प्राप्त होता है. पश्चिम दिशा की ओर खाना खाने से शरीर में बीमारियाँ लगती है

ऐसी अवस्था में भोजन न करे

बिस्तर पर बैठकर भोजन न करे, अपने हाथो पर रखकर या फिर टूटे फूटे बर्तनों में भोजन कभी नही करना चाहिए. मलमूत्र का वेग होने पर भी भोजन नही करना चाहिए. इसके अलावा कलह अथवा क्लेश के माहोल में भी भोजन नही करना चाहिए. अधिक शोर शराबे वाली जगह पर भी भोजन नही करना चाहिए. परोसे गये भोजन की कभी निंदा नही करनी चाहिए और खड़े होकर खाना नही खाना चाहिए.

कैसा भोजन करना चाहिए

खाना कभी भी बहुत ज्यादा तीखा या मीठा नही होना चाहिए और किसी के द्वारा छोड़ा गया भोजन भी कभी नही खाना चाहिए. आधा खाया हुआ फल, मिठाइयाँ फिर से नही खानी चाहिए. एक बार खाना छोडकर उठ जाने के बाद दोबारा कभी भोजन नही करना चाहिए. मुह से फूंक मारकर दिया गया भोजन भी नही करना चाहिए. कंजूस के द्वारा, वैश्या के द्वारा, शराब बेचने वाले के हाथ का खाना नही खाना चाहिए.

भोजन करते समय ध्यान रखे ये जरुरी बाते

खाना खाते समय हमेशा मौन रहे और उस दौरान भरपेट न खाएं. अगर भोजन करते समय बोलना जरुरी है तो केवल सकरात्मक बाते ही करे. खाना खाते समय किसी भी प्रकार की समस्या पर चर्चा न करे. सबसे पहले मीठा, नमकीन और अंत में कडवा खाना चाहिए.

खाना खाने के बाद क्या नही करना चाहिए ?

खाना खाने के बाद तुरंत पानी या चाय नही पीनी चाहिए. खाने खाने के बाद दौड़ना, घुड़सवारी, बैठना आदि प्रकार के कार्य नही करने चाहिए. दिन में भोजन करने के बाद टहलना चाहिए और रात के समय 100 कदम टहलकर बाईं तरफ करवट लेकर सोने से भोजन का पाचन अच्छे से होता है.

पति के साथ भोजन नही करना चाहिए ?

स्त्रियों को अपने पति की थाली में भोजन नही करना चाहिए. एक थाली में अगर पति पत्नी साथ भोजन करते है तो ऐसी थाली मादक पदार्थो से भरी जाने वाली होती है. पत्नी को पति के भोजन करने के बाद ही खाना चाहिए इससे घर में सुख समृद्धि बढती है.

 

 

About NR Thakur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *